Recents in Beach

constitution of india in hindi : ब्रिटिश शासन के अधीन संवैधानिक विकास

 ब्रिटिश शासन के अधीन संवैधानिक विकास

ब्रिटिश शासन के अधीन संवैधानिक विकास


भारत शासन अधिनियम (1858)

- इस अधिनियम के तहत भारत का शासन महारानी विक्‍टोरिया के अधीन हो गया तथा भारत के गर्वनर-जनरल को वायसराय नाम दिया गया। यह वायसराय ब्रिटिश ताज का प्रत्‍यक्ष प्रतिनिधि बन गया।

- भारत के प्रथम वायसराय लार्ड कैनिंग बने

- भारत में ईस्‍ट इंडिया कम्‍पनी का शासन इस अधिनियम द्वारा समाप्‍त हो गया। इस अधिनियम को भारतीय स्‍वतन्‍त्रता का मैग्‍नाकार्टा भी कहा जाता है।

- कोर्ट ऑफ डायरेक्‍टर्स तथा बोर्ड आफ कन्‍ट्रोल के द्वेध शासन को समाप्‍त कर दिया गया तथा भारत का राज्‍य सचिव या भारत सचिव नामक एक नया पद सृजित किया गया, जिसमें भारतीय प्रशासन पर सम्‍पूर्ण निय‍न्‍त्रण की शक्ति निहित थी। इसकी सहायता हेतु 15 सदस्‍य परषिद का भी गठन किया गया, जिसका अध्‍यक्ष भारत सचिव होता था।

 

भारतीय परिषद अधिनियम (1861)

- इस अधिनियम के द्वारा पहली बार कानून बनाने की प्रकिृया में भारतीयों को शामिन करने की व्‍यवस्‍था का प्रारम्‍भ हुआ। वायसराय कुछ भारतीयों को विस्‍तारित परिषद में गैर सरकारी सदस्‍यों के रूप में नामित कर सकताथा। इस प्रकार नामित किये गये सदस्‍यों के वधिायी कार्य से सम्‍बन्‍ध कार्य करने का अधिकार वायसराय को दे दिया गया।

- गर्वनर जनरल की कार्यकारी परषिद का विस्‍तार कर दिया गया तथा उसमें एक पांचवा सदस्‍य सम्मिलित किया गया, उसका न्‍यायविद होना आवश्‍यक था तथा इसके साथ ही विधि-निर्माण हेतु गर्वनर जनरल की परिषद में 6 से 12 सदस्‍यों की वृद्धि की गयी, जिनका कार्यकाल दो वर्ष निर्धारित किया गया।

भारतीय परिषद अधिनियम(1892)

केन्‍द्रीय एवं प्रान्‍तीय विधान परिषदों का विस्‍तार किया गया तथा उनमें 8 से 20 नए सदस्‍यों की नियुक्ति की गयी।

- इन नए सदस्‍यों में से 40 प्रतिशत गैर-सरकारी होते थे, किन्‍तु इन परिषदों में बहुमत सरकारी सदस्‍यों का ही रहता था।

- विधान‍परिषदों को प्रश्‍न पूछने व बजट पर बहस करने का अधिकार सीमित रूप में दिया गया।

- इस अधिनियम का सबसे महत्‍वपूर्ण प्रावधान चुनाव पद्धति की शुरूआत करना था। चुनाव शब्‍द का प्रयोग अधिनियम में नहीं किया गया था, किन्‍तु इस अधिनियम ने केन्‍द्रीय एवं प्रान्‍तीय विधानपरिषदों में गैर-सरकारी सदस्‍यों के लिए एक सीमित और परोक्ष चुनाव प्रक्रिया का प्रावधान किया गया।

Post a Comment

0 Comments